Padmini Ekadashi Vrat Vidhi: पद्मिनी एकादशी वाले दिन भूलकर भी ना करें ये 3 गलतियां, जानें व्रत विधि और कथा

Padmini Ekadashi Vrat Vidhi: पद्मिनी एकादशी व्रत पुरुषोत्तम मास में शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि के दिन किया जाता है। यही वज़ह है की इस एकादशी को पुरुषोत्तमी एकादशी (purushottami ekadashi) भी कहा जाता है। क्या आप जानते हैं की Padmini Ekadashi भगवान विष्णु जी को प्रिय है। शास्त्रों में इस बात का उल्लेख किया गया है जो भी व्यक्ति सच्चे मन से पद्मिनी एकादशी व्रत को करता है उसे विष्णु लोक की प्राप्ति होती है। एकादशी के दिन कुछ ऐसे काम हैं जिन्हें भूलकर भी नहीं करना चाहिए, कौन से हैं वो काम और क्या है व्रत विधि और व्रत कथा आइए आपको इन सभी के बारे में विस्तार से जानकारी देते हैं।

Padmini Ekadashi Vrat Vidhi

  • इस दिन व्यक्ति को सुबह जल्दी उठकर स्नान कर लेना चाहिए और फिर सूर्यदेव को अर्घ्य दें।
  • इस दिन विष्णु भगवान की पूजा की जाती है।
  • ब्राह्मण को फलाहार का भोजन करायें और दक्षिणा दें।

Padmini Ekadashi Vrat Katha

त्रेता युग में पराक्रमी राजा कृतवीर्य थे, बता दें की राजा की कई रानियां थीं लेकिन उनकी कोई संतान नहीं थी। संतान की प्राप्ति के लिए राजा ने रानियों सहित कठोर तपस्या की थी।

लेकिन उन्हें तपस्या का फल नहीं मिला तो ऐसे में रानियों ने मां अनुसूया से उपाय पूछा। माता ने उन्हें मल मास में शुक्ल पक्ष की एकादशी का व्रत करने को कहा था।

इसके बाद रानियों ने माता देवी अनुसूया द्वारा बताये गए विधान के मुताबिक, पद्मिनी एकादशी का व्रत रखा। व्रत पूरा होने पर भगवान प्रकट हुए और उन्हें वरदान मांगने के लिए कहा।

भगवान से उन्होंने वरदान में एक ऐसा पुत्र मांगा जो सर्वगुण सम्पन्न हो और तीनों लोकों में आदरणीय हो और जो आपके अतिरिक्त किसी से पराजित न हो पाए। प्रभु ने उन्हें ऐसा वर दिया और फिर कुछ समय बाद रानी ने ऐसे ही एक पुत्र को जन्म दिया जिसे कार्तवीर्य अर्जुन नाम पड़ा।

ये भी पढ़ें- Shani Dev Puja Vidhi in Hindi: जानें, पूजा विधि, भक्त रखें इन बातों का ख्याल, पढ़ें Shani Chalisa भी

Padmini Ekadashi Vrat Vidhi: ना करें ये गलतियां

एकादशी के दिन ना करें इस चीज का सेवन

धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक, एकादशी वाले दिन चावल का सेवन नहीं करना चाहिए। ऐसा माना गया है की इस दिन चावल को खाने से व्यक्ति का जन्म रेंगने वाले जीव की योनि में होता है।

महिलाओं का अपमान ना करें

ऐसा माना गया है की एकादशी वाले दिन महिलाओं का अपमान यदि किया जाए तो ऐसे में व्रत का फल प्राप्त नहीं होता। केवल एकादशी वाले दिन ही नहीं किसी भी व्यक्ति को कभी भी महिलाओं का अपमान नहीं करना चाहिए। ऐसा कहा गया है की जो व्यक्ति महिलाओं का सम्मान नहीं करते उन्हें कई तरहों की समस्याओं का सामना जीवन में करना पड़ता है।

ये भी पढ़ें- Santoshi Mata Vrat Puja Vidhi: व्रत रखने वाले मां के भक्तों को रखना चाहिए इन बातों का खास ख्याल

मांस-मदिरा का सेवन ना करें

एकादशी वाले दिन मांस-मंदिरा के सेवन से दूरी बनाए रखनी चाहिए। ऐसा करने से जीवन में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। यदि आप इस दिन व्रत नहीं रखते हैं तो सात्विक भोजन का ही करें।

Share this!!

Rahul Sharma

News Updates is a platform where you find stuff related to Politics, Bollywood, Religion, Tech & Gadgets, Lifestyle, Education, Gallery & more... so stay updated with latest news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *