Kangana Ranaut Office: दफ्तर में तोड़-फोड़ देख चढ़ा कंगना का पारा, ‘हर हर महादेव’ लिख किया लड़ाई की ओर इशारा!

बॉलीवुड एक्ट्रेस Kangana Ranaut का हौसला पस्त करने के लिए BMC और महाराष्ट्र सरकार ने जो पैंतरा आजमाया था। अब लगता है वो उन पर ही भारी पड़ रहा है, वहीं मणिकर्णिका फिल्म की एक्ट्रेस कंगना उनके इस कदम से ज़रा सी भी न ही हिलीं हैं और न डगमगाई हैं। गौरतलब है कि बीते दिनों कंगना ने अपने एक बयान में कहा था कि उन्हें अब मुंबई की स्थिति पीओके जैसी मेहसूस हो रही है। जिसके बाद वो तमाम सेलेब्स और राज नेताओं के निशाने पर आ गईं।

इस बाबत शिवसेना (Shivsena) से राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कंगना रनौत को एक इंटरव्यू के दौरान ‘हरामखोर’ कह दिया। जिसके बाद इस मामले ने तूल पकड़ लिया। लेकिन संजय राउत यहीं नहीं थमें उन्होंने कंगना को पाकिस्तान जाने को कह दिया और मुंबई कभी ना आने जैसी हिदायत तक दे डाली थी।

संजय राउत के इस बयान के बाद अपनी बात बेबाकी से रखने के लिए पहचाने जाने वाली अभिनेत्री कंगना भी शिवसेना और संजय राउत पर हमलावर हो गईं और उन्होंने एक वीडियो पोस्ट कर कहा, ‘मैं 9 सितंबर को मुंबई आ रही हूं किसी के बाप में दम है तो मुझे रोक कर दिखाए।’ जिसके बाद शिवसेना ने अवैध निर्माण का हवाला देते हुए 9 सितंबर को कंगना रनौत के दफ्तर पर तोड़-फोड़ कर दी।

जिसके बाद कंगना रनौत आज यानि 10 सितंबर को अपने दफ्तर पहुंची और वहां का जायज़ा लिया। अपने ऑफिस में तोड़-फोड़ देख कंगना का पारा चढ़ गया और उन्होंने एक बार फिर सोशल मीडिया साइट ट्विटर का सहारा लेते हुए लिखा, ‘हर हर महादेव’ कंगना के इस ट्वीट का अंदाज़ा महाराष्ट्र सरकार और एक्ट्रेस के बीच एक नई जंग से लगाया जा रहा है। वहीं इससे पहले भी कंगना ने 9 सितंबर को ट्विटर पर वीडियो शेयर कर कहा था, ‘उद्धव ठाकरे आज मेरा ऑफिस टूटा है कल तेरा घमंड टूटेगा। मैं डर कर भागने वालों में से नहीं हूं।’

ये भी पढ़ें- कंगना रनौत को दी जाएगी Y श्रेणी सुरक्षा, एक्ट्रेस ने अमित शाह को कहा ‘धन्यवाद’

बता दें कंगना रनौत को भारत के गृह मंत्रालय की तरफ से Y श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराई गई है। इसके अलावा हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने भी कंगना की सुरक्षा के लिए हिमाचल सरकार के सुरक्षाकर्मी दे रखे हैं। बता दें कंगना रनौत के दफ्तर में की गई तोड़-फोड़ के लिए मुंबई हाई कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार और BMC को जमकर फटकार लगाई है। अवैध तरीके से निर्माणा के मामले पर मुंबई हाईकोर्ट ने 22 सितंबर को सुनवाई की तारीख सुनिश्चित की है। इसके अलावा कोर्ट ने कहा कि 22 सितंबर तक न ही इमारत तोड़ने का कार्य किया जा सकता है और न ही जोड़ने का कार्य होगा।

Share this!!

Rahul Sharma

News Updates is a platform where you find stuff related to Politics, Bollywood, Religion, Tech & Gadgets, Lifestyle, Education, Gallery & more... so stay updated with latest news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *