Bihar Assembly Election 2020 : जेडीयू के खिलाफ चुनावी दंगल में उतरेंगे चिराग पासवान, किया ये बड़ा ऐलान

Bihar Assembly Election 2020:बिहार विधानसभा चुनाव [Bihar Assembly Election] इस महीने के अंत में होने वाले हैं। बिहार [Bihar] की राजनीति में चुनाव से पहले जबरदस्त उठापटक दिखाई दे रही है। पिछले कुछ समय से लोजपा [LJP] अध्यक्ष चिराग पासवान [Chirag Paswan] ने जेडीयू [JDU] के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। एनडीए [NDA] के घटक दल लोजपा और जेडीयू के बीच काफी खींचतान चल रही है। भाजपा [BJP] के वरिष्ठ नेताओं के साथ कई बैठकें करने के बाद भी भाजपा चिराग पासवान को मनाने में असफल रही।

4 अक्टूबर को लोजपा की संसदीय समिति की बैठक के बाद चिराग ने साफ़ कर दिया कि लोजपा बिहार चुनाव एनडीए में रहते हुए गठबंधन से अलग लड़ेगी। उन्होंने ये भी स्पष्ट कर दिया कि लोजपा की भाजपा से कोई अनबन नहीं है लेकिन जेडीयू से वैचारिक मतभेद के चलते वो बिहार चुनाव अकेले लड़ना चाहते हैं।

लोजपा अध्यक्ष ने लिया अंतिम फैसला

सीटों के बंटवारे को लेकर काफी दिनों से बैठकों का दौर चल रहा था। चिराग पासवान (Bihar Assembly Election 2020)सीट शेयरिंग को लेकर एनडीए से नाराज थे। चिराग की भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा [JP Nadda] ,अमित शाह [Amit Shah] आदि नेताओं से मुलाकात के बाद भी मामला सुलझ नहीं पाया। भाजपा चाहती थी कि जेडीयू,लोजपा और भाजपा साथ मिलकर बिहार चुनाव में उतरें । लेकिन चिराग के बगावती तेवरों की वजह से अब लोजपा अकेले चुनावी मैदान में उतारने को तैयार है। इससे पहले चुनाव के नजदीक आने और सीटों का बंटवारा न होने पर भाजपा की तरफ से यह बयान आया था कि रामविलास पासवान [Ram Vilas Pasvan] का स्वास्थ्य खराब होने के कारण सीटों के बंटवारे में देरी हो रही है।

लोजपा की संसदीय समिति की बैठक पहले 3 अक्टूबर को होने वाली थी लेकिन उसी दिन रामविलास पासवान की हार्ट सर्जरी होने की वजह से यह मीटिंग 4 अक्टूबर को रखी गई। पार्टी ने एनडीए में रहते हुए जेडीयू के खिलाफ चुनावी दंगल में उतरने की घोषणा कर दी। लोजपा की तरफ से ये भी कह गया कि भाजपा से लोजपा की कोई नाराजगी नहीं है लेकिन जेडीयू से वैचारिक भिन्नता के कारण हम ये चुनाव अकेले लड़ेंगे।

चिराग ने जेडीयू के खिलाफ बजाया चुनावी बिगुल

चिराग पासवान पिछले काफी समय से जेडीयू प्रमुख नितीश [Nitish Kumar] के खिलाफ बयानबाजी करते हुए दिख रहे हैं। इसके चलते ये कयास लगाए जा रहे थे कि चिराग एनडीए से बाहर भी हो सकते हैं। 4 अक्टूबर को चिराग ने जेडीयू के खिलाफ चुनाव में उतरने की घोषणा कर दी। लोजपा ने मुख्यमंत्री [Chief Minister] नितीश कुमार की महत्वाकांछी योजना सात निश्चय योजना की आलोचना करते हुए भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था और बिहार सरकार द्वारा कोरोना महामारी और प्रवासी श्रमिकों के मुद्दे पर ठीक तरह से नहीं निपटने को लेकर भी प्रश्न उठाये थे। सूत्रों के अनुसार जेडीयू के कुछ नेताओं का कहना है कि लोजपा जेडीयू को कई सीटों पर नुकसान पहुँचा सकती है। इस परिस्थिति में ये चुनावी दंगल काफी दिलचस्प होने वाला है।

Share this!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *