India vs China: चीन के खिलाफ एक्शन मूड में नजर आया भारत, 44 वंदे भारत का ट्रेंडर किया रद्द

India vs China: भारत और चीन के बीच इन दिनों मनमुटाव देखने के मिल रहा है। भारत और चीन के बीच लद्दाख (ladakh) में सीमा पर विवाद लगातार जारी है। इसी बीच चीन को भारतीय रेलवे ने बड़ा झटका दिया है। भारतीय रेलवे ने 44 सेमी हाईस्पीड वाली वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों (Vande Bharat)के निर्माण के ट्रेंडर को कैंसल कर दिया है। इस बात की जानकारी खुद रेलवे (Railway Ministry) की तरफ से दी गई है।

भारत सरकार (indian government)की तरफ से टेंडर रद्द होना भारत का चीन (china) के खिलाफ बड़ा कदम माना जा रहा है। क्योंकि 44 हाई स्पीड ट्रेन की आपूर्ति के लिए 6 दावेदारों में चीनी संयुक्त उद्यम सीआरआरसी पायनियर इलेक्ट्रिक (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड एकमात्र विदेशी बोलीदाता थी।

भारतीय रेलवे का ट्वीट

चीन (china) को झटका देते हुए भारतीय रेल मंत्रालय ने एक ट्वीट में कहा कि 44 सेमी-हाई स्पीड ट्रेनों (वंदे भारत) के निर्माण की निविदा रद्द कर दी गई है। संशोधित सार्वजनिक खरीद (मेक इन इंडिया को वरीयता) आदेश के अंतर्गत एक सप्ताह के भीतर ताजा निविदा आमंत्रित की जाएगी।

भारतीय कंपनी को मिल सकता है ट्रेंडर

पीटीआई की खबर के अनुसार भारतीय रेलवे चाहता है कि वंदे भारत ट्रेनों (Vande Bharat train) का ट्रेंडर किसी घरेलू कंपनी को दिया जाए। 15 फरवरी 2019 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने दिल्ली-वाराणसी के लिए वंदे भारत ट्रेंन को हरी झंडी दिखाई थी। दूसरी ट्रेन को दिल्ली और श्री माता वैष्णोदेवी कटरा के बीच गृह मंत्री अमित शाह ने हरी झंडी दिखाई थी।

दरअसलल भारत और चीन के बीच लद्दाख सीमा को लेकर विवाद चल रहा है और यहां कई बार झड़प भी हो चुकी है। भारत ने इस झड़प में अपने 20 जवान भी खो दिए थे। इस हिंसा के बाद भारत ने चीन के 59 एप्स की भारत में रोक लगा दी थी।

Share this!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *